हमारा देश आज इतना आगे तक जा पहुंचा हैं, चाहे वो तकनिकी के मामले में हो या फिर दुसरे देशो से कदम से कदम मिलाने के मामले में , लेकिन एक छोटी सी चिज  है जो आज भी हमारे देश को अन्य देशो से पिछे छोड़ती हैं,वो  हैं जतीय भेदभाव। जातपात के मामले में आज भी हमारे समाज की वही सोच हैं जो कइ सदीयां पहले हुआ करती थी। इस मामले में आज भी हमारा समाज आगे नही बढ़ पाया हैं।  आज भी खुद की पसंद से अंतरजातिय विवाह करना लोगो के लिये  मुश्किले खड़ी कर देती है। यह मुश्किले और कोइ नही बल्कि उनके घर वाले ही खड़े करते है। कुछ ऐसा ही मामला कल 9 अप्रैल को भी देखने को मिला।  प्राणपुर प्रखंड के अंतर्गत  पत्थर वार पंचायत सूरजाना गांव के प्रेमी जोड़ो केा अंतरजातिय विवाह करना महंगा पड़ गया। इनहोने विवाह तो कर लिया लेकिन अब इनकी जान पर बन आइ हैं। अब ये लेाग लगातार कटिहार एसडीपीओ लाल बाबु यादव से सुरक्षा मुहैया कराने की मांग कर रहे है। इस संबध में जब हमने लड़की के पिता से पुछताछ की तो लड़के के पिता श्याम रविदास ने बताया की मेरा बेटा करण कुमार दिल्ली में काम करता हैं और इसी पंचायत की दुसरी लड़की करिश्मा कुमारी 23 मार्च को अपने घर से भागकर लड़के से मंदिर में शादी कर ली। इधर जब लड़की के परिजनो को पता चला की लड़की ने शादी कर ली है तो लड़की के परिजन भी इसके खिलाफ हो गये। और लड़का लड़की समेत पुरे परिवार को जान से मार देने की धमकी दे रहे है। इसी डर से लड़के के परिवार वाले भी घर से भागे हुए है। अपनी जान को बचाने के लिये कल 9 अप्रैल को  विवाहित जोड़े ने एसडीपीओ से मिलकर लड़की के परिवार वालो पर प्राथमिकी दर्ज कराइ है। और अपने और पुरे परिवार के लिये सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है।